हिंदी   /   English
Officers interested for Liaison Officer in KMY 2019 are requested to apply. Last date for LO application is 30 April.
यात्रा के लिए शुल्क और व्‍यय

यात्रा के लिए शुल्क और व्‍यय

सं.
लिपुलेख मार्ग
प्रति यात्री अनुमानित खर्च के ब्यौरे
नाथु-ला मार्ग
1. रु.5,000 यात्रा के मार्ग के अनुसार देय पुष्टि राशि
(किसी जत्थे में पुष्टि होने पर अप्रतिदेय)
रु.5,000

शेष देय राशि (प्रस्थान से पहले)

2 रु.30,000 कुमाऊं मंडल विकास निगम (KMVN)
3 सिक्किम पर्यटन विकास निगम (STDC) रु.20,000
4 वापसी हवाई यात्रा किराया दिल्ली-बागडोगरा-दिल्ली क्षेत्र
(STDC द्वारा बुकिंग की व्यवस्था और राशि उन्हें अग्रिम तौर पर देय)
(एयर लाइन नीति के अनुसार हवाई किराया और निरस्तीकरण पर किराया की वापसी)
रु.14,000

नकद/डेबिट/क्रेडिट कार्ड द्वारा देय

5 रु.3,100 चिकित्सा जाँच- दिल्ली हार्ट एंड लंग इंस्टीट्यूट(डीएचएलआई) को देय रु.3,100
6 रु.2,500 स्ट्रेस इको जाँच (यदि डीएचएलआई द्वारा अपेक्षित हो और परामर्श दिया गया हो) रु.2,500
7 रु.2,400 चीन का वीजा शुल्क (डीएचएलआई में नकद लिया जाएगा) रु.2,400

सेवा प्रदाता को नकद देय

8 रु.12,189 भारतीय सीमा के भीतर आने-जाने के लिए कुली प्रभार
(उत्तराखण्ड सरकार द्वारा संशोधन के अध्यधीन)
9 रु.16,081 भारतीय सीमा के भीतर आने-जाने के लिए टट्टू और टट्टूचालक को देय
(उत्तराखण्ड सरकार द्वारा संशोधन के अध्यधीन)

साझा व्यय

10 रु.4,000 सामूहिक कार्यकलापों के लिए पुल धन हेतु अंशदान रु.4,000
11 वास्तविक जत्थे के लिए रसोइया भाड़े पर लेने, साझा खाद्य पदार्थ खरीदने इत्यादि के लिए मेहनताना वास्तविक

तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र (TAR) में देय

12 US $901 ठहरने, परिवहन, प्रवेश टिकटों इत्यादि के लिए।
इसमें आप्रवासन के लिए एक अमरीकी डालर का शुल्क शामिल है।
US $2,001
13 RMB:630** चीन की सीमा के भीतर आने-जाने के लिए कुली
(टीएआर प्राधिकारियों द्वारा संशोधन के अध्यधीन)
RMB:630**
14 RMB:1710** चीन सीमा के भीतर टट्टू और टट्टूचालक को देय राशि (टीएआर प्राधिकारियों द्वारा संशोधन के अध्यधीन) RMB:1710**

** 2017 के लिए यथाउपलब्ध सूचना/आंकड़े       $:अमरीकी डालर

■ सुविधाओं का अंशतः उपयोग किए जाने पर भी किसी भी चरण में भुगतान की गई कोई भी राशि प्रतिदेय नहीं है।
■ भुगतान की गई राशि को किसी भी अन्य व्यक्ति को हस्तांतरित नहीं किया जा सकता।

© विदेश मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा स्वामित्व सामग्री
राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र द्वारा डिजाइन और विकसित