हिंदी   /   English
Status chart of KMY-2018 batches click here
ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि:  06/04/2018

फॉर्म डाउनलोड करें

● वचनपत्र :आपात स्थिेति में हेलिकॉप्टर से निकासी  

● प्रमाणीकृत क्षतिपूर्ति बांड    

● अंत्येष्टि के लिए सहमति पत्र  

कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए आवेदन करें

ऑनलाइन आवेदन करने से पूर्व:

● योग्यता और यात्रा से संबन्धित शर्तों का विवरण / जानकारी ध्यान से पढ़ें। यहां क्लिक करें
● कृपया यह सुनिश्चि्त करें कि एक्रोबैट रीडर आपकी कंप्यूटर प्रणाली में संस्थापित है। यदि संस्थापित नहीं हो, तो
   यहाँ से डाउनलोड करे

आवेदन के लिए शर्तें:
(क) आवेदक के पास साधारण भारतीय पासपोर्ट होना चाहिए जो कि वर्तमान वर्ष के 01 सितम्बर को कम से कम 6 माह के लिए वैध हो।
(ख) यह यात्री की स्वयं की जिम्मेदारी है कि आवेदन फॉर्म में भरी गई सूचनाएं, नाम (वर्तनी), जन्मतिथि इत्यादि हर संदर्भ में पूर्ण एवं सही हो।
(ग) आवेदन फार्म में गलत एवं / अथवा अधूरी जानकारी यात्री को यात्रा से निष्कासित करने का आधार होगा। अब तक किए गए सभी भुगतान अप्रतिदेय होंगे।
(घ) आवेदकों को दोनों मार्गों में से अपनी पसंद के अनुसार वरीयता देना अनिवार्य है।
(ङ) यात्रियों को यात्रा-समापन स्थल का चयन करना भी अनिवार्य है।
              (i) मार्ग-1 (लिपुलेख): धारचूला या दिल्ली
              (ii) मार्ग-2: (नाथुला): गंगटोक या दिल्ली
(च) कागजी आवेदन पत्र स्वीकार नहीं किये जाएंगे।

ऑनलाइन आवेदन करने से पहले निम्नलिखित दस्तावेज़ तैयार रखें:
(क)फोटो की स्कैन प्रति (जेपीजी (JPG) फॉर्मेट में जो 300 केबी से अधिक न हो)
(ख)पासपोर्ट की स्कैन प्रति (जिस पृष्ठ पर फोटो और व्यक्तिगत विवरण हो) और आखिरी पृष्ठ जिस पर परिवार का विवरण हो (पीडीएफ फॉमेट में 500 केबी से अधिक न हो)
(ग)यदि अन्य किसी व्यक्ति के साथ में आवेदन कर रहे हैं तो उस व्यक्ति के उपर्युक्त दस्तावेज़ (क) और (ख) तैयार रखें।

सफलतापूर्वक आवेदन ऑनलाइन प्रस्तुत करने के बाद :
(क) आवेदन प्रपत्र का प्रिंट आउट ले लें और भविष्य के संदर्भ में इसे अपने पास रखें।
(ख) आवेदन पत्र सफलतापूर्वक प्रस्तुत करने के बाद आवेदक को पुष्टि हेतु SMS / ई-मेल प्राप्त करेंगे।

नोट : एक ही यूजर अकाउंट में अधिकतम दो पंजीकरण जमा हो सकते हैं यदि दो आवेदक एक बैच में साथ जाना चाहते हैं।

नए उपयोगकर्ता?
रजिस्टर

मौजूदा उपयोगकर्ता?
लाँगिन

© विदेश मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा स्वामित्व सामग्री
राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र द्वारा डिजाइन और विकसित